CBSE Full Form In Hindi | Cbse kya hai

हमारे देश में शिक्षा के लिए लगभग हर राज्य में एक शिक्षा बोर्ड है जो राज्य स्तर पर शिक्षा के लिए काम करता है। पर क्या आप जानते हैं कि एक बोर्ड जिसे सीबीएसई कहा जाता है वह पूरे देश मेस शिक्षा के क्षेत्र के लिए काम करता है। यदि आप सीबीएसई क्या है? के बारे में नहीं जानते और जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को अंत तक ज़रूर पढ़ें।

क्योंकि हम इस आर्टिकल में आपको cbse full form in hindi, cbse meaning in hindi, What is the full form of CBSE? और सीबीएसई के साथ जुड़ी अन्य सभी जानकारी देने वाले हैं।

CBSE Full form in hindi | सीबीएसई का फुल फॉर्म

इससे पहले की हम सीबीएसई के बारे में अन्य कुछ जाने उससे पहले हमारे लिए ज़रूरी है इस शब्द cbse full form के बारे में जानना। इसलिए हम आपको बता देते हैं कि सीबीएसई का फुल फॉर्म “Central Board of Secondary Education” होता है और यदि हिंदी में cbse के फुल फॉर्म की बात करें तो CBSE full form in hindi “केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड” है। 

 

सीबीएसई क्या है? ~ Cbse Meaning In Hindi

 

Cbse भारत का एक शिक्षा बोर्ड है, यह राष्ट्रीय स्तर का शिक्षा बोर्ड है जिसको केंद्र सरकार के द्वारा चलाया जाता है। यह निजी और सार्वजनिक स्कूलों का एक संयोजन है अर्थात इसके साथ प्राइवेट और पब्लिक स्कूल जुड़े हुए हैं और Ncert के द्वारा दिए सिलेबस पर काम करते हैं।

यह सीबीएसई के साथ जुड़े स्कूलों की बात करें तो भारत मे इनकी गिनती 25000 से अधिक है जिसमें सरकारी और गैर सरकारी स्कूल भी शामिल हैं। cbse के मतलब या फिर cbse meaning in hindi के बारे में बताएं तो इसका मतलब केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड होता है। जिसको अंग्रेजी में “सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन के नाम से जाना जाता है।

 

सीबीएसई की स्थापना कब हुई थी?

 

जब सीबीएसई की स्थापना की गई तो उस वक़्त इसका नाम जो आज हम जानते हैं वह नहीं था सीबीएसई की स्थापना 2 जुलाई 1929 को उस समय की भारत सरकार द्वारा “बोर्ड ऑफ हाई स्कूल एंड इंटरमीडिएट एजुकेशन” के नाम से की गई थी।

बहुत वक़्त तक यह बोर्ड एक सीमित क्षेत्र में ही रहा मगर 1952 को इसमें संशोधन कर इसका नाम बदल कर “केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड” कर इसके अधिकार क्षेत्र को बड़ा कर पूरे देश तक इसका विस्तार किया गया। इसके बाद 1962 में फिर cbse का पुनर्गठन किया गया, जिसके बाद से अब सीबीएसई के साथ जुड़े स्कूल भारत के साथ भारत से बाहर अन्य देशों में भी स्थित हैं।

 

माध्यमिक शिक्षा आयोग की स्थापना कब हुई?

 

सीबीएसई की स्थापना के बारे में हमने ऊपर आपको बताया है जो 1929 में हुई मगर इसका नाम 1952 में बदल कर केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड किया गया इसलिए हम कह सकते हैं कि इसकी स्थापना 1952 में हुई। माध्यमिक शिक्षा आयोग की स्थापना डॉ॰ लक्ष्मणस्वामी मुदालियर अध्यक्षता में 23 सितंबर 1952 को की गई थी इसके बारे में ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक👉माध्यमिक शिक्षा आयोग करके देख सकते हो।

 

सीबीएसई बोर्ड यूपी बोर्ड में क्या अंतर है?

 

सीबीएसई बॉर्ड और यूपी बोर्ड में क्या अंतर है यह जानने के लिए आप नीचे लिखे सभी पॉइंट्स पढ़िए जिससे आप इन दोनों के बीच का अंतर समझ जाएंगे:-

 

  • Cbse बोर्ड एक केंद्रीय शिक्षा बोर्ड है जिसे केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के नाम से जाना जाता है वहीं यूपी बोर्ड एक राज्य शिक्षा बोर्ड है जिसे उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के नाम से जाना जाता है।
  • केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की शार्ट फॉर्म “CBSE” है, और उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की शार्ट फॉर्म “UPMSP” है।
  • यूपी बोर्ड उत्तर प्रदेश की राज्य सरकार के द्वारा चलाया जाता है, सीबीएसई भारत की केंद्र सरकार के द्वारा चलाया जाता है।
  • Cbse पूरे भारत और अन्य देशों में भी फैला हुआ है, वहीं यूपी बोर्ड सिर्फ एक राज्य उत्तर प्रदेश तक सीमित है।
  • सीबीएसई बोर्ड का सिलेबस Ncert द्वारा बनाया जाता है और इस बोर्ड के लिए सभी किताबें ncert द्वारा प्रकाशित की जाती हैं। वही यूपी बोर्ड का सिलेबस यूपी की राज्य सरकार द्वारा बनाया जाता है।

 

सीबीएसई के अध्यक्ष कौन हैं?

 

वर्तमान समय में सीबीएसई के अध्यक्ष का नाम श्री मनोज आहूजा है, वह ओडिशा कैडर के 1990 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। 12 मई 2020 को केंद्र सरकार इन्हें सीबीएसई के अध्यक्ष पद पर स्थापित किया गया। इनसे पहले cbse की अध्यक्ष अनीता करवाल थी, उनका सीबीएसई के अध्यक्ष में कार्यकाल 2017 से मई 2020 तक का था।

 

सीबीएसई एनसीइआरटी में क्या अंतर है?

 

सीबीएसई बॉर्ड और एनसीइआरटी में क्या अंतर है यह जानने के लिए आप नीचे लिखे सभी पॉइंट्स पढ़िए जिससे आप Cbse and ncert difference समझ जाएंगे:-

 

  • Ncert का फुल फॉर्म national council of educational and training है, वहीं cbse की फुल फॉर्म आप ऊपर जान चुके हैं जो इससे बिल्कुल अलग है।
  • Ncert का हिंदी में मतलब राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और परीक्षण परिषद है। जो सीबीएसई के हिंदी मतलब से बिल्कुल विभिन्न है।
  • Ncert के द्वारा 1 से 12 तक क्लासों की किताबें प्रकाशित की जाती हैं और सभी सिलेबस तैयार किया जाता है। cbse द्वारा सभी स्कूलों में ncert के सिलेबस को अप्लाई किया जाता है।
  • इन दोनों में अधिक अंतर जानने के लिए आपको ncert के बारे में विस्तार से जानकारी पता करनी होगी जिसे आप यहाँ ncert पर क्लिक करके देख सकते हो। 

 

दोस्तों यह थी सीबीएसई बोर्ड के साथ जुड़ी हुई जानकारी जिसमें हमने cbse full form in hindi, cbse meaning in hindi, सीबीएसई की स्थापना, सीबीएसई और यूपी बोर्ड के अंतर के बारे में जाना।

आपको यदि यह जानकारी पसन्द आती है तो हमें कमेंट करके बताएं यदि आपको कुछ जानकारी यहाँ कम लग रही है तो भी हमें कमेंट करके बताएं हम उसके बारे में यहाँ विस्तार से लिख देंगे। धन्यवाद

Leave a Comment