My school essay in hindi for 3rd class

आज के इस पोस्ट में हम my school essay in hindi लिखने वाले हैं, जिसमें हम अपने स्कूल के बारे में लिखेंगे। यदि आप यह देखने आए हो कि मेरा स्कूल निबंध कैसे लिखें तो आप इस पोस्ट पढ़कर अंदाजा लगा सकते हो कि आपको मेरा स्कूल निबंध कैसे लिखना है।

आप जब भी मेरा स्कूल निबंध लिखोगे तो उसमें आप ने अपने स्कूल के बारे में लिखना है जैसे हम यहाँ पर अपने स्कूल ओर अधयापकों के बारे में लिखकर आपको समझाने की कोशिश करेंगे कि आप My school essay in hindi कैसे लिख सकते हैं तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं।

 

My School Essay In Hindi For 4th Class प्रस्तावना

 

दोस्तो जब से आपने स्कूल जाना शुरू किया होगा तबसे आपने एक बात तो ज़रूर सीखी होगी कि स्कूल एक मंदिर है।

यहाँ पर हमें शिक्षा देने वाले अधयापक हमारे गुरु हैं तो आपको मेरा स्कूल निबंध की शुरुआत इस लाइन से ही करनी है कि स्कूल एक मंदिर है।

स्कूल को मंदिर आज से नहीं बल्कि बहुत प्राचीन समय से माना जाता है जब स्कूल नहीं गुरुकुल हुआ करते थे जैसे आज हम स्कूलों में किताबों के माध्यम से शिक्षा प्राप्त करते हैं। my school essay in hindi

वैसे ही तब गुरुकुल में गुरु अपने शिष्यों को शास्त्र विद्या जैसे विषयों में माहिर करते थे। क्योंकि यह विद्या उस समय की ज़रूरत थी जैसे आज के समय की ज़रूरत है टेक्नोलॉजी से जुड़ी शिक्षा।

 

मेरा स्कूल जाने का समय

 

मेरा स्कूल मेरे घर से लगभग 9-10 किलोमीटर की दूरी पर है इसलिए मैं अपने स्कूल पैदल नहीं जा सकता तो हमें लेने के लिए स्कूल की बस आती है।

हमारी ही सोसाइटी से ओर बच्चे भी हमारे साथ उस बस के माध्यम से स्कूल जाते हैं। स्कूल बस लगभग 7:30AM  पर हमें लेने आ जाती है और 08:00AM बजे तक हमें स्कूल पहुँच देती है।

हमारा रोज़ाना का यही रहता है इसलिए हम भी सुबह जल्दी उठकर स्कूल जाने के लिए तैयार हो जाते हैं और बाकी बच्चों के साथ सोसाइटी के गेट पर बस का इंतज़ार करने लगते हैं।

जब बस आ जाती है तो हम बस मैं अपनी अपनी सीट पर बैठ कर स्कूल के लिए निकल पड़ते हैं।

 

मेरे स्कूल की इमारत

 

स्कूल के प्रवेश द्वार अंदर जाते ही हमें एक तरफ प्रधानाध्यापक का आफिस रूम दिखाई देता है और फिर आगे बढ़ते ही हमारे स्कूल की ऊंची सी इमारत दिखाई देती है। सामने कुछ क्लास रूम्स भी है।

इनके अलावा ऊपर की मंजिलों पर लगभग 50 कमरे बने हुए हैं। जिनमें सभी अलग अलग क्लासों के विद्यार्थियों को पढ़ाया जाता है एक क्लास में लगभग 40-50 बच्चों के बैठने की जगह है।

हर क्लास रूम में एक ब्लैक बोर्ड और एक वाइट बोर्ड लगा हुआ है, इमारत की सभी मंजिज़ों पर लड़के और लड़कियों के लिए अलग अलग बाथरूम बने हुए हैं। हर मंज़िल पर पीने के साफ पानी का इंतजाम है। ऊपर की मंज़िलों पर जाने के लिए सीढ़ियां बनी हुई है।

यदि हम ऊपर ना जाकर थोड़ा आगे बढ़ते हैं तो हम स्कूल इमारत के पिछले हिस्से में आ जाते हैं जहाँ पर एक खेल मैदान बना हुआ है जहाँ पर हम स्कूल के ब्रेक टाइम में खेलते ओर मस्ती करते हैं। my school essay in hindi

यही प्ले ग्राउंड के प्रवेश दीवार के पास एक कमरा जैसा बना हुआ है जो कि हमारे स्कूल की कैंटीन है।

स्कूल के अंदर में ही एक साइड पर साईकल ओर मोटरसाइकिल पार्क करने के लिए खाली जगह है जहाँ पर साइकल ओर मोटरसाइकिल पर आने वाले बच्चे अपने वेहिकल खड़े करते हैं।

कुल मिलाकर यह कहें कि मेरा स्कूल जन्नत है तो यह गलत नहीं होगा क्योंकि यहाँ की सुंदरता और सफाई देख कर कोई भी माता पिता यहाँ प्रवेश करते ही अपने बच्चे को यहाँ पर दाखिल करने का मन बना लेते हैं।

 

मेरे स्कूल की सुविधाएं

 

यहाँ पर पढ़ने वाले हर एक बच्चे की जिम्मेदारी स्कूल की रहती है यदि किसी बच्चे को कोई भी परेशानी आती है तो उसके लिए स्कूल जिम्मेदार होता है। my school essay in hindi

यहाँ पर हर एक क्लास रूम में दो सीसीटीवी कैमरे लगे रहते हैं जिनका लाइव स्कूल सेक्युरिटी सिस्टम में चलता रहता है जिससे किसी भी दुर्घटना को होने से पहले रोका जा सकता है।

पीने के लिए साफ शुद्ध और फ़िल्टर पानी का प्रबंध है।

हर एक क्लास रूम में गर्मियों के लिए ऐ सी लगा हुआ है।

यहाँ पर पढ़ाने वाले सभी अधयापक उच्च शिक्षा प्राप्त किए हुए हैं और उन्हें कम से कम पांच साल का तजुर्बा है जिससे वह बच्चों को अच्छी शिक्षा देते हैं।

हफ़्ते में एक बार प्रतियोगी परीक्षा कराई जाती है जिससे बच्चों की पढ़ाई की जांच की जा सके कि वह पढ़ने में किस स्थान पर हैं।

स्कूल में एक कंप्यूटर लैब है जहाँ लगभग 100-150 कंप्यूटर मैजूद हैं जिनपर बच्चों को प्रैक्टिकल कंप्यूटर सिखाया जाता है।

हर क्लास रूम में पढ़ाने वाले दो अध्यापक हर वक़्त मैजूद रहते हैं।

 

मेरे स्कूल का परीक्षा परिणाम

 

मेरे स्कूल की अच्छी सुविधा यहाँ दिखने वाली सिर्फ सफाई में ही नहीं झलकती बल्कि मेरे स्कूल में अच्छी शिक्षा का पता हर साल आने वाले परीक्षा परिणामो से लगाया जा सकता है। my school essay in hindi

हर साल मेरे स्कूल से ही 2-3 टॉपर होते हैं जो पूरे ज़िला स्तर पर सबसे ज्यादा नम्बर लेकर परीक्षा पास किये होते हैं।

मेरे शहर में एकमात्र मेरा स्कूल ऐसा है जिसके परीक्षा नतीजे 99.9% पास के ही होते हैं। मेरे माता पिता ने भी मेरा दाखिला मेरे स्कूल में यहाँ के परीक्षा परिणामों को देखते हुए कराया था। और यह फैंसला मेरे माता पिता का बिल्कुल सही फैंसला था।

 

निष्कर्ष

दोस्तों आपने यहाँ पढा my school essay in hindi, हमें उम्मीद है कि आपको यह मेरा स्कूल निबंध पसंद आया होगा जिसमें हमने अपने स्कूल के बारे में लिखा है।

यदि आप भी मेरा स्कूल निबंध लिखना चाहते हैं तो आप हमारे इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़ें और वैसे ही आप अपने स्कूल के बारे में लिख सकते हो।

मेरा स्कूल निबंध को अलग अलग तरह से लिखा जा सकता है यह निर्भर करता है कि आप जिस स्कूल के बारे में लिख रहे हैं वहाँ की सुविधा क्या है और वह स्कूल कैसा है। धन्यवाद

Best Cow essay in hindi for class 5 | गाय पर निबंध

Leave a Comment